बस मे मिली लड़की के साथ जबरदस्त चुदाई

sex stories in hindi, antarvasna

नमस्कार दोस्तों आज जो कहानी मैं आप लोगो के लिए लेकर आया हूँ मुझे आशा है की आप को जरूर पसंद आएगी | ये कहानी मेरी सच्ची घटना पर आधारित है | मेरा नाम कमलेश है और मैं पंजाब का रहने वाला हूँ मेरी उम्र 26 साल है | मैं दिल्ली में जॉब करता हूँ | मैं देखने बहुत खूबसूरत तो नहीं हूँ मेरा रंग सांवला है | मैंने जिम जाकर काफी अच्छी खासी बॉडी बना रखी है | मेरी लम्बाई 5 फुट 6 इंच है | अब ज्यादा बकवास ना करते हुए मैं आप सब को सीधे अपनी कहानी पर ले चलता हूँ |

ये कहानी तब की है जब मैं अपने घर से दिल्ली के लिए आ रहा था | मैं बस अड्डे पर पहुंचा और मैंने दिल्ली के लिए टिकट बुक कराया | मैंने कंडेक्टर से कह कर खिड़की वाली सीट बुक कराइ और जाकर बैठ गया | मैं बस में बैठा हुआ था और अपने जॉब के बारे में सोंच रहा था की ना जाने कैसी कम्पनी होगी और और बॉस अच्छा होगा की नही | तब तक एक बूड़े अंकल मेरे पास आकर बैठ गए वो बार खांस रहे थे | आजीब-अजीब सी हरकते कर रहे थे मैं उनको देख कर बहुत परेशान होने लगा एक तो मैं पहले से ही परेशान था | मैं सोचने लगा की कास ये अंकल यहाँ से चले जाते तो बहुत अच्छा रहता |

बस चल पड़ी थोड़ी देर बाद भगवान् ने मेरी सुन ली अगले स्टेशन पर वो अंकल उतर गए उनको वही तक जाना था | मैंने बहुत आराम महसूस किया | मैंने मन ही मन भगवान् का धन्यवाद किया और मन में सोचने लगा की अब कोई भी आकर ना बैठे तो अच्छा ही रहेगा | तब तक एक बहुत ही खूबसूरत लड़की बस में चढ़ी | उसने पीले कलर का सूट पहन रखा था | उसका फिगर लगभग 34-30-36 होगा | मैं उसको देखता ही रह गया | मैं मन ही मन में सोच रहा था की काश ये आकर मेरे पास आकर बैठ जाये तो सफ़र आसानी से कट जायेगा | बस में कोई सीट खाली ही नहीं थी कंडेक्टर ने उसे मेरे पास वाली सीट पर इशारा करते हुए उसे बैठने को कहा | मैं अन्दर से बहुत ही खुश था | वो आकर मेरे पास बैठ गयी | मैंने पहले तो सोचा की उसे उसका नाम पूछूँ पर हिम्मत नहीं पड़ी | थोड़ी देर बाद उसने मुझसे कहा की अगर आप बुरा ना माने तो आप मेरी जगह पर बैठ जाए और मुझे खिड़की वाली सीट पर मुझे बैठने दे क्यूंकि मुझे बस में उल्टी होने लगती ही |

मैंने कहा क्यूँ नहीं और मैंने उसको अपनी सीट दे दी | वो जब उठकर मेरी सीट पर आ रही थी तभी ड्राइवर ने ब्रेक लगा दी और वो मेरे ऊपर आ गयी | मैंने अपने दोनों हांथो से उसको रोक लिया नहीं तो हम दोनों को चोट लग जाती | मैंने दोनों हांथो से उसको पकड़ा था तो मेरे हाँथ बिलकुल उसके बूब्स पर थे | मैंने अपने हाँथ हटाया और उसको सॉरी बोला उसने कहा कोई बात नहीं अगर आप नहीं पकड़ते तो हम दोनों को काफी चोट लगती | फिर वो सीट पर बैठ गयी और हम दोनों एक दम चुप बैठे थे | फिर मैंने चुप्पी तोड़ते हुए उससे कहा की आप कहा जा रही है | उसने बताया की वो दिल्ली जा रही है | मैंने कहा अरे वाह मैं भी दिल्ली ही जा रहा हूँ | उसने कहा आप किस काम से दिल्ली जा रहे है | मैंने उसको बताया की मेरी जॉब दिल्ली में लगी है और वही जा रहा हूँ  | मैंने कहा और आप किस काम से जा रही है | तो उसने बताया की मैं दिल्ली में जॉब करती हूँ और अपने घर से आ रही हूँ |

फिर हम दोनों ने रास्ते भर में बहुत सी बातें की और हमारा सफ़र काफी अच्छा कट गया | हम लोग दिल्ली पहुँच गए उसने मुझसे हाँथ मिलाया और कहा की आपके सात सफ़र बहुत अच्छा कटा पता ही नहीं चला की हम दिल्ली कब आ गए | फिर उसने मुझे अपना नंबर दिया और कहने लगी की अगर दिल्ली में किसी चीज की जरुरत हो तो मुझे याद करना | फिर वो चली गयी | कम्पनी की तरफ से मुझे फ्लैट मिला था मैं भी अपने फ़्लैट पर पहुंचा | अगले दिन जाकर मैंने कम्पनी ज्वाइन की कंपनी बहुत ही अच्छी थी | मैं मन लगा कर काम करने लगा | मैंने अगले दिन उसको फ़ोन लगाया | उसने कहा हेल्लो कौन मैंने कहा अजनबी बोल रहा हूँ उसने कहा आपको बात किससे करनी है मैंने कहा आप से ही करनी है | उसने कहा कौन बोल रहे है आप मैंने कहा की मैं आपका बस वाला अजनबी दोस्त बोल रहा हूँ वो पहचान गयी |

उसने कहा और क्या हालचाल है मैंने कहा सब ठीक है | फिर मैंने उससे कहा की उस दिन आपने अपना नाम तक नहीं बताया | उसने कहा की आपने पूछा भी तो नहीं था | मैंने कहा हाँ सॉरी आज बता दो उसने अपना नाम तानिया बताया और मैंने भी उसे अपना नाम बताया  | फिर हम दोनों की रोज बात होने लगी | हम दोनों धीरे-धीरे काफी नजदीक आ गए एक दिन मैंने उसको आई लव यू बोल दिया | उसने भी कहा की मै भी तुमको प्यार करती हूँ | अब हम लोग मिलने लगे कभी हम पार्क में मिलते कभी हम मूवी देखने जाया करते थे | एक दिन की बात है हम दोनों मूवी देखने सिनेमा हाल में पहुंचे वहां हम दोनों बैठे मूवी देख रहे थे | की उसमे एक किसिंग सीन आया | जिसे देखकर मैं उसकी तरफ देखने लगा वो भी मुझे देख  रही थी | हम दोनों ने एक दूसरे को किस करने लगे और मैं उसके बूब्स को दबाने लगा | वो गरम होने लगी थी मैंने उससे कहा की मुझे तुम्हारे साथ सेक्स करना है | उसने मुझे मना कर दिया और कहने लगी की मैं ये सब नहीं कर सकती | मूवी देखने के बाद मैंने उससे कहा की आज मुझे तुम्हारे हाँथ का बना खाना खाना है | उसने कहा चलो आज तुम मेरे फ़्लैट पर चलो मैंने कहा ठीक है | हम दोनों उसके फ़्लैट पर पहुंचे और उसने मेरे लिए खाना बनाया | हम दोनों ने साथ में खाना खाया उसने खाना बहुत ही अच्छा बनाया था | फिर मैं उससे कहने लगा की अब मैं जा रहा हूँ | उसने कहा की आज यहीं रुक जाओ | मैंने कहा पर मैं यहाँ रूककर करूँगा भी क्या |

उसने मुझे अपनी बाँहों में भर लिया और मुझको किस करने लगी | मैं समझ गया की वो सेक्स के लिए तैयार है | मैं भी उसके गुलाबी होंठो को चूमने लगा | मैं उसके बूब्स भी दबाने लगा और उसकी चूत को सहलाने लगा | फिर मैंने उसको अपनी बाँहों में उठा लिया और उसको बेडरूम में ले  गया और उसको बीएड पर लिटा दिया | फिर मैंने उसके कपडे निकाल दिए | अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी | मैंने उसकी ब्रा को निकाल दिया और उसके बूब्स को मसलने लगा | मैं उसकी चूचियों को मुहँ में लेकर चूसने लगा और उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा | वो गरम होने लगी थी फिर मैंने उसकी नाभि पर किस किया और उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चूमने लगा फिर मैंने उसकी पैंटी निकाल कर फेंक दी | अब उसकी गुलाबी चूत मेरे सामने थी क्या मस्त चूत थी उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था | मैंने उसकी चूत पर अपना मुहँ रख दिया और उसकी चूत को चाटने लगा | अब वो मदहोश होने लगी थी |

वो मेरे सिर हो अपनी चूत पर दबाने लगी | फिर उसने मेरी पैंट को खोलकर मेरा लंड निकाल लिया और उसे चूसने लगी | वो मेरे लंड को लोलीपॉप की तरह चुसे जा जा रही थी | मुझे बहुत मज़ा आ रहा था पहली बार कोई मेरे लंड को चूस रहा था | फिर मैंने उसकी टांगो को फैलाया और उसकी चूत के छेंद पर रगड़ने लगा | अब वो बिलकुल पागल सी होने लगी उसने मुझसे कहा की प्लीज अब लंड अन्दर डाल दो मुझे रहा नहीं जा  रहा कितना तडपाओगे मुझे | मैंने एक झटका लगाया और मेरा लंड उसकी चूत में समां गया | उसके मुहँ से आह की आवाज निकली उसकी चूत बहुत टाइट थी | मैं उसको किस करने लगा और धक्के लगाने लगा  | मैं उसकी चूत को चोदे जा रहा था और उसके मुहँ से आह्ह्ह ओह्ह्ह इश्ह्ह्ह  ओह्ह्ह छोड़ो और जोर से फाड़ दो इसे तुम्हारा लंड बहुत ही मस्त है मुझे बहुत मजा आ रहा है  और चोदो बुझा दो मेरी प्यास | मैंने उसकी मस्त चुदाई की और फिर हम दोनों थोड़ी देर बाद झड गए | हम दोनों कुछ देर एक दुसरे के ऊपर लेटे रहे | वो मुझे किस किये जा रही थी उस रात मैंने उसकी तीन बार चुदाई की | उसके बाद मैंने उसकी कई बार चुदाई की |