चूत आई है चूत के साथ

antarvasna sex kahani

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब ? मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सब अच्छे होंगे और इर बारिश भरी गर्मी के मौसम में चुदाई का लुत्फ़ उठा रहे होंगे | मेरा नाम अलीशा है और मैं बंगलौर की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 29 साल है और मैं अभी अविवाहिक हूँ | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है और मेरा बदन सेक्सी और सुडोल है | आप सब जानते हैं कि सुडोल शरीर कितना सेक्सी होता है | दोस्तों मैं इस साईट की रोजाना पाठक हूँ और मुझे कहानियां पढ़ते हुए मुट्ठ मरना बहुत अच्छा लगता है | वैसे मेरे पास डिलडो भी है | लेकिन असली लंड से मजा आता है मुझे ये डिलडो फील्डो तो बस चूत को चूतिया बनाने के लिए है | खैर आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची कहानी है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप लोग को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगेगी और मजा भी आएगा | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय नहीं लूंगी और अपनी कहानी शुरू करती हूँ |

ये घटना पिछले साल की है | दोस्तों मेरे घर में मैं, मम्मी पापा, एक छोटा भाई, और मेरी मामा की बेटी रहती है | मेरे पापा ( राकेश ) सरकारी नौकरी करते हैं | मेरी मम्मी ( समीता ) है और वो एक गृहणी है | मेरा छोटा भाई सुजीत अभी कॉलेज की पढाई करता है | दोस्तों मैं कभी चुदक्कड़ नहीं थी | स्कूल में भी बहुत सीधी सादी रही और कॉलेज के समय में भी | पर ऐसा नहीं है कि मेरा कभी मन नहीं हुआ कि मैं कोई बॉयफ्रेंड बनाऊं या किसी से न चुदवाउन | पर पता नहीं मैं ये सब करना नहीं चाहती थी | मैं चाहती थी कि जो भी करूँ वो सब शादी के बाद ही करना चाहती थी | मेरी जो मामा की लड़की थी जिसका नाम प्रतिमा है वो हमारे यहाँ पर रहने आई थी और वो हमारे यहाँ पर रह कर पढ़ाई पूरी कर रही थी | एक दिन की बात है मैं रात में नींद से उठी तो मुझे प्यास लगने लगी | मैं किचिन के तरफ जा कर पानी पीने लगी और जब वहां से लौट रही थी तभी मेरी नजर प्रतिमा के कमरे के तरफ पड़ी | मैंने देखा कि वो अपनी चूत सहला रही है नंगी हो कर | ये देख कर मुझे अचरज नहीं हुआ क्यूंकि मैं भी यही करती हूँ | मैंने दरवाजा खो कर अन्दर गई तो वो एक दम से दर गई और अपने आपको  चादर से ढँक ली | मैंने कहा अरे डरने की कोई बात नहीं है मैं तेरी फीलिंग्स समझती हूँ पर कम से कम दरवाजा तो बंद कर दिया कर | उसने कहा दीदी मैं क्या करूँ भूल गई थी सॉरी | मैंने कहा चल कोई बात नहीं लेकिन तू ये सब कब से कर रही है ? तो उसने कहा कि दीदी मेरा एक बॉयफ्रेंड है पर आज कल उससे मिलना नही हो प् रहा है इसलिए मैं उसकी याद में ये सब कर रही हूँ | उसके बाद से मेरे मन में भी उथल पुथल होने लगी | पर मेरा घर कभी खाली नहीं रहता था | पर एक दिन मुझे मौका मिल गया और उसके बाद मैंने सोचा क्यों न उसको बुला लूँ और जैसे ही मेरे घर वाले यहाँ वहां हुए मैंने उससे संपर्क किया | जैसे ही वो मेरे घर आई मैंने उसे पकड़ लिया और उसके बाद हम दोनों शुरू हो गए | मैं उसके पास गयी और वो मेरे पास आई और मैं उससे चिपकने लगी और वो मुझसे और हम दोनों गरम हो गए |

मैंने उसे अपनी बांहों में ले कर उसे रगड़ने लगी और वो भी मेरी बांहों में आ कर मुझे भी सहलाने लगी | उसके बाद मैंने अपने होंठ उसके होंठ से लगा कर उसके होंठ को चूसने लगी तो वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी | मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके दूध को दबा रही थी और वो मेरे होंठ को चूसते हुए मेरे दूध को दबा रही थी | हम दोनों ने एक दूसरे के होंठ को काफी देर तक चूसा | उसके बाद मैंने उसके टॉप को निकाल दिया और उसके ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को दबाने लगी और उसके मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिअक्रियाँ निकलने लगी | फिर मैंने उसके ब्रा को भी भी उतार कर उसे ऊपर से पूरी नंगी कर दी और उसके दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बालो को सहलाने लगी | मैं उसके दूध को जोर जोर से दबा दबा कर चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे दूध को दबा रही थी | मैंने उसके दूध को करीब दस मिनट तक चूसी | उसके बाद उसने मेरे टॉप को निकाल कर मेरे दूध को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगी तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | फिर उसने अपने हाँथ पीछे कर के मेरे ब्रा के हुक को खोल कर ब्रा को उतार दी और फिर मेरे दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रही थी | उसके बाद मैंने उसके जीन्स को उतार कर उसे लेटा दी बिस्तर पर उओर फिर उसकी पेंटी उतार कर मैंने उसे पूरी नंगी कर के उसकी चूत पर अपनी जीभ फेरते हुए चाटने लगी तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मचलने लगी | मैं उसकी चूत को चाटते हुए उसके चूत के दाने को भी अपने होंठ में दबा कर चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे ले रही थी | फिर मैंने अपनी लेगी को उतार दी और उसने मेरी पेंटी को | मैं अपनी चूत हमेशा साफ़ रखथी हूँ | फिर उसने मेरी टांग को चौड़ा कर के मेरी चूत पर अपनी जीभ फेरने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी | वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरी चूत को अन्दर तक जीभ डाल कर चोद रही थी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां लेते हुए उसके मुंह को अपनी चूत पर दबा रह इथी | उसके बाद मैंने अलमारी से डिलडो निकाल कर उसकी चूत में डाल कर अन्दर बाहर करने लगी तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरी चूत को चाट रही थी | मैं जोर जोर से उसकी चूत में डिलडो से अन्दर बाहर करते हुए चोद रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरी गांड चाट रही थी | कुछ देर के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दी | अब बारी मेरी थी | अब मैं लेट गई और वो 69 में आ कर मेरी चूत में डिलडो डाल कर चोदने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसकी चूत में ऊँगली डालने लगी | फिर उसने अपनी स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से डिलडो अन्दर बाहर करते हुए चोदने लगी और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | कुछ देर के बाद मेरी चूत ने भी अपना रस छोड़ दी | उसके बाद हम दोनों निढाल हो कर लेट गए | फिर जब हम थोडा अच्छा फील करने लगे तो पैरो को एक दूसरे के क्रॉस कर के एक दूसरे की चूत से खुद की चूत रगड़ने लगे और आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की आन्हे बराबर निकल कर पूरे कमरे में गूँज रही थी | करीब दस मिनट बाद हम फिर से झड़ गए | फिर कपड़े पहने और अपने अपने काम में लगा गए | अब हमे जब भी मौका मिलता है तो हम ऐसे ही चुदाई कर लेते हैं |